Home   Personal Banking Corporate Banking MSME Banking Agri Banking NRI Banking Customer Care
होम    हमारे बारे में     निवेशक     आईडीबीआई समूह     कैरियर     हमसे संपर्क करें     खोज     English
अक्सर पूछे जानेवाले प्रश्न
आवास ऋण एफएक्यू
वैयक्तिक ऋण एफएक्यू
सुपर बचत खाते एफएक्यू
वर्ल्ड /ग्लोबल करेंसी कार्ड एफएक्यू
फिक्स्ड डिपॉज़िट एफएक्यू
संपत्ति पर ऋण एफएक्यू
गोल्ड डेबिट कार्ड एफएक्यू
इंटरनेशनल डेबिट-कम-एटीएम कार्ड एफएक्यू
कैश कार्ड एफएक्यू
किड्स कार्ड एफएक्यू
गिफ्ट कार्ड एफएक्यू
प्लेटिनम कार्ड एफएक्यू
फोन बैंकिंग एफएक्यू
कॉरपोरेट पेरोल खाता एफएक्यू वाले प्रश्न
मनी ट्रांसफर एफएक्यू
पोर्टफोलियो निवेश योजना एफएक्यू
एएसबीए आईपीओ भुगतान विकल्प एफएक्यू एटीएम उपयोग संबंधी एफएक्यू
एटीएम उपयोग संबंधी एफएक्यू
पेमेट पर एफएक्यू
bullet देशी ब्याज दरें
bullet एनआरआई ब्याज दर
bullet सेवा प्रभार
bullet कॉरपोरेट सेवा प्रभार
 
एफएक्यू > एटीएम उपयोग पर अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

एटीएम से संबंधित - अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

प्र. 1

स्वचालित टेलर मशीन (एटीएम) क्या है ?

 

स्वचालित टेलर मशीन एक कंप्यूटरीकृत मशीन है जो बैंकों के ग्राहकों को किसी शाखा में गये बिना नकदी प्राप्त करने तथा अन्य वित्तीय लेन-देन करने के लिए उनके खाते की एक्सेसिंग करने की सुविधा प्रदान करती है.

प्र. 2

एटीएम में कौन से कार्ड प्रयुक्त किए जा सकते हैं ?

 

एटीएम पर विभिन्न लेन-देनों के लिए एटीएम कार्ड/डेबिट कार्ड, क्रेडिट कार्ड और प्रीपेड कार्ड (जो नकद आहरण देता है) का उपयोग किया जा सकता है.

प्र. 3

एटीएम में कौन सी सेवाएँ/सुविधाएं उपलब्ध हैं ?

 

नकदी वितरण के अलावा एटीएम पर कई सेवाएँ/सुविधाएं उपलब्ध हैं, उदाहरणार्थ :
       bulletखाता संबंधी जानकारी
       bulletनकदी जमा (लिफाफा द्वारा)
       bulletनियमित बिल भुगतान
       bulletमोबाइल के लिए रिलोड वाउचर खरीदना
       bulletलघु विवरण
       bulletपिन परिवर्तन

तथापि कार्ड यदि किसी अन्य बैंक के एटीएम पर उपयोग किया जाता है तो ग्राहक केवल नकदी आहरण एवं शेष संबंधी पूछ ताछ जैसे लेन-देन कर सकते हैं॰

प्र. 4

एटीएम पर लेन-देन कैसे करें ?

 

एटीएम में लेन-देन करने के लिए ग्राहक को अपना कार्ड एटीएम में डालकर/स्वाइप कर अपनी व्यक्तिगत पहचान संख्या (पिन) दर्ज करनी चाहिए.

प्र. 5

क्या ये कार्ड देश में किसी भी बैंक के एटीएम में प्रयुक्त किए जा सकते हैं ?

 

जी हाँ. भारत में बैंकों द्वारा जारी किए गए कार्ड देश भर में किसी भी एटीएम पर प्रयोग करने के लिए सक्षम होने चाहिए.

प्र. 6

व्यक्तिगत पहचान संख्या (पिन) क्या है ?

 

पिन अंकों का एक पासवर्ड है जिसका उपयोग एटीएम में किया जाता है. बैंक ग्राहक के पास कार्ड जारी करते समय अलग से पिन डाक से भेजता है/उन्हें सौंपता है. ग्राहक को आईडीबीआई बैंक के एटीएम पर यह पिन बदल कर नया पिन सेट करना होगा. अधिकांश बैंक ग्राहकों से कहते हैं कि पहली बार प्रयोग के बाद अपना पिन बदल लें.

कार्ड, कार्ड कवर/पाउच आदि पर पिन नंबर नहीं लिखना चाहिए, क्योंकि इसके चोरी हो जाने/ खो जाने पर इसका दुरुपयोग हो सकता है.

प्र. 7

यदि कोई अपना पिन भूल जाता है या एटीएम मशीन में कार्ड जब्त हो जाता है तो ऐसी स्थिति में उसे क्या करना चाहिए ?

 

ग्राहक को कार्ड जारी करने वाली बैंक-शाखा से संपर्क कर नया कार्ड जारी करने हेतु आवेदन करना चाहिए. यदि यह कार्ड अन्य बैंक के एटीएम में जब्त कर लिया जाता है, तब भी यह प्रक्रिया अपनाई जाएगी.

प्र. 8

कार्ड खो जाने/चोरी हो जाने पर क्या करें ?

 

ग्राहक को कार्ड जारी करने वाले बैंक से तुरंत संपर्क कर कार्ड खोने की सूचना देनी चाहिए ताकि बैंक उस कार्ड को ब्लॉक कर सके.

प्र.9

क्या नकदी आहरण की कोई दैनिक न्यूनतम और अधिकतम सीमा निर्धारित है ?

 

जी हाँ, बैंकों ने अपने ग्राहकों के लिए नकदी आहरण की सीमा निर्धारित की है. जारीकर्ता बैंक द्वारा कार्ड को जारी करते समय उस बैंक के एटीएम पर प्रयोग के लिए नकदी आहरण की सीमा निर्धारित की जाती है.

बैंकों ने अन्य बैंकों के एटीएमों पर नकदी आहरण के लिए रु. 10000/- प्रति लेन-देन की सीमा बरकरार रखने का निर्णय लिया है. यह सूचना एटीएम स्थान पर प्रदर्शित की जाती है.

प्र.10

क्या बैंक अन्य बैंकों के एटीएम के उपयोग पर कोई सेवा प्रभार लगाते हैं?

 

हाँ, आरबीआई के दिशा-निर्देशों के अनुसार प्रथम 5 (वित्तीय और गैर वित्तीय) लेन-देन* निःशुल्क हैं॰ इस सीमा के बाहर ग्राहक से उसके बाद नकदी आहरण के लिए : 20 रु.प्रति लेन-देन तथा शेष पूछताछ के लिए: 8 रु.प्रति लेन-देन प्रभार लिया जाता है॰

*वित्तीय लेन-देन (नकदी आहरण) और गैर वित्तीय लेन-देन (शेष पूछताछ/पिन परिवर्तन/लघु विवरण)

प्र.11

यदि नकदी आहरण की प्रक्रिया के दौरान नकदी संवितरित न हुई हो लेकिन खाते में से राशि नामे (डेबिट) हो जाए तो इस स्थिति में क्या करें ?

 

ग्राहक को कार्ड जारी करने वाले बैंक, जहां खाता खुला है, में शिकायत दर्ज करनी चाहिए. यदि लेन-देन अन्य बैंकों के एटीएम से किया गया हो तब भी यह प्रक्रिया अपनाई जानीचाहिए.

प्र.12

इस प्रकार की गलत नामे राशि को पुनः जमा करने में बैंक को अधिकतम कितने दिन लगेंगे ?

 

रिज़र्व बैंक के दिशानिर्देशों के अनुसार, एटीएम लेन-देनों के असफल होने पर ग्राहकों के खातों में गलत ढंग से नामे की गई राशि को ग्राहक की शिकायत मिलने की तारीख से 7 कार्य दिवसों की अधिकतम अवधि के अंदर पुनः जमा कर दिया जाता है.

प्र.13

क्या 7 दिनों से अधिक का विलंब होने के कारण ग्राहक किसी मुआवजे का पात्र होगा ?

 

जी हाँ॰ 1 जुलाई 2011 से बैंकों को ग्राहक की शिकायत प्राप्त होने की तारीख से 7 कार्य दिवसों से अधिक की विलंबित अवधि के लिए प्रतिदिन 100 रु. अदा करना होगा भले ही ग्राहक द्वारा इसकी मांग न की गई हो.

प्र.14

यदि उपर्युक्तानुसार मुआवजा जमा नहीं किया गया तो ग्राहक क्या करे ?

 

ऐसे सभी मामलों के लिए ग्राहक कार्ड जारीकर्ता बैंक में शिकायत दर्ज करे और बैंक द्वारा कोई कार्रवाई न करने पर वह स्थानीय बैंकिंग लोकपाल में शिकायत दर्ज करे.
 
होम | शीर्ष
प्रभार अनुसूची : देशी ब्याज दरें : एनआरआई ब्याज दर
दावा अस्वीकरण : वेब मास्टर : साइट मैप : रिज़र्व बैंक : आरटीजीएस : एफएक्यू up Arrow Icon नीतियां : प्रायवेसी : हायपरलिंक : कॉपीराइट : स्क्रीन रीडर एक्सेस