Home   वैयक्तिक बैंकिंग कॉरपोरेट बैंकिंग एमएसएमई बैंकिंग कृषि बैंकिंग एनआरआई बैंकिंग ग्राहक सेवा
होम    हमारे बारे में     निवेशक     आईडीबीआई समूह     सीएसआर     कैरियर     हमसे संपर्क करें     खोज     English
हमारे बारे में
संकल्प व ध्येय
आईडीबीआई बैंक लि. रूपरेखा
भव्य पृष्ठभूमि
संविधि
प्रबंधन
नई पीढ़ी का सरकार के स्वामित्व का बैंक
सामान्य आचरण तथा आचार संहिता कोड
आईडीबीआई बैंक समाचार
bullet देशी ब्याज दरें
bullet एनआरआई ब्याज दर
bullet सेवा प्रभार
bullet कॉरपोरेट सेवा प्रभार
होम > हमारे बारे में > बैंक की रूपरेखा

आईडीबीआई बैंक लि. रूपरेखा


आईडीबीआई बैंक लि. आज भारत के सबसे बड़े बैंकों में से एक है. 40 वर्षों से भी अधिक समय से आईडीबीआई बैंक ने उद्योग जगत में पहले विकास वित्तीय संस्था के रूप में (1 जुलाई 1964 से 30 सितंबर 2004 तक) और बाद में समस्त सेवाओं वाले वाणिज्यिक बैंक के रूप में (1 अक्तूबर 2004 के बाद) राष्ट्र निर्माण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है. विकास वित्तीय संस्था के रूप में पूर्ववर्ती आईडीबीआई ने ऐसी सेवाओं का वित्तपोषण किया जिनसे उद्योगों का संतुलित भौगोलिक विकास,अभिनिर्धारित पिछड़े क्षेत्रों का विकास और उद्यमवृत्ति की एक नई चेतना का उदभव हुआ तथा सक्रिय पूंजी बाजार अस्तित्व में आया. 1 अक्तूबर 2004 को पूर्ववर्ती आईडीबीआई को बैंकिंग कंपनी (इंडस्ट्रियल डेवलपमेंट बैंक ऑफ इंडिया लिमिटेड) के रूप में अपनी विकास वित्तीय संस्था की भूमिका के साथ समस्त बैंकिंग सेवाएं प्रदान करने के लिए रूपान्तरित किया गया. पूर्ववर्ती आईडीबीआई बैंक के अपनी मूल कंपनी (आईडीबीआई लि.) में 2 अप्रैल 2005 को विलय (नियुक्त तिथि 1 अक्तूबर 2004) और फिर पूर्ववर्ती दि यूनाइटेड वेस्टर्न बैंक लि. के आईडीबीआई बैंक में 3 अक्तूबर 2006 को हुए विलय के बाद प्रौद्योगिकी उन्मुख(टैक सैवी), नई पीढी का भारत सरकार की प्रमुख शेयरधारिता वाला यह बैंक कॉरपोरेट, रिटेल, एसएमई व कृषि उत्पादों और सेवाओं की श्रृंखला के जरिए लाखों भारतीयों के जीवनशैली का हिस्सा बन गया है.

आईडीबीआई बैंक का प्रधान कार्यालय मुंबई में है . यह सशक्त कारोबारी रणनीति, अत्यधिक सक्षम एवं समर्पित कार्यबल और उन्नत सूचना प्रौद्योगिकी प्लेटफॉर्म के जरिए विभिन्न डिलीवरी चैनलों के माध्यम से ग्राहकों को उनकी मनपसंद और अनूठी बैंकिंग सेवाएं और ग्राहक अपेक्षानुसार वित्तीय समाधान उपलब्ध करा रहा है

यूनिवर्सल बैंक के रूप में आईडीबीआई बैंक ने कोर बैंकिंग व परियोजना वित्त क्षेत्र के अलावा पूंजी बाजार, निवेश बैंकिंग और म्यूचुअल फंड कारोबार जैसे संबद्ध वित्तीय क्षेत्र के कारोबार में अपनी उपस्थिति दर्ज की है. अपनी इस विकास यात्रा में आईडीबीआई बैंक अपने सभी अंशधारकों के लिए धन व मूल्य सृजित करने के अलावा एक `पसंदीदा बैंक' और `अत्यधिक मूल्यवान वित्तीय महासंगठन' के रूप में उभरने के लिए मजबूती से काम करने हेतु प्रतिबद्ध है.
होम | शीर्ष
प्रभार अनुसूची : देशी ब्याज दरें : एनआरआई ब्याज दर
दावा अस्वीकरण : वेब मास्टर : साइट मैप : रिज़र्व बैंक : आरटीजीएस : एफएक्यू up Arrow Icon नीतियां : प्रायवेसी : हायपरलिंक : कॉपीराइट : स्क्रीन रीडर एक्सेस