Home   वैयक्तिक बैंकिंग कॉरपोरेट बैंकिंग एमएसएमई बैंकिंग कृषि बैंकिंग एनआरआई बैंकिंग ग्राहक सेवा
होम    हमारे बारे में     निवेशक     आईडीबीआई समूह     सीएसआर     कैरियर     हमसे संपर्क करें     खोज     English
Net Banking Login
bullet देशी ब्याज दरें
bullet एनआरआई ब्याज दर
bullet सेवा प्रभार
bullet कॉरपोरेट सेवा प्रभार
होम > कारपोरेट > सरकारी कारोबार > पूर्व-लदान वित्त

पूर्व-लदान वित्त



इस योजना का उद्देश्य निर्यातकों को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर तुलनीय ब्याज दरों पर लघु अवधि के लिए कार्यशील पूंजी सहायता उपलब्ध कराना है.

निर्यात ऋण के प्रकार: (1) पूर्व लदान निर्यात ऋण / पैकिंग ऋण(आरपीसी/पीसीएफ़सी) (2) पोत लदानोत्तर निर्यात ऋण – विदेशी मुद्रा(एफ़सीवाई) और रुपया ऋण दोनों में

पूर्व-लदान ऋण/ पैकिंग ऋण जिसे `पैकिंग ऋण ' भी कहा जाता है, एक प्रकार से बैंक द्वारा किसी निर्यातक को लदान पूर्व माल की खरीद, प्रोसेसिंग, विनिर्माण तथा/या माल की पैकिंग के लिए प्रदत्त ऋण / अग्रिम है. पैकिंग ऋण निर्यात या सेवाओं में संलग्न कंपनियों को परिश्रमिक, यूटिलिटी भुगतानों, यात्रा आदि से संबन्धित व्ययों के वहन के लिए कार्यशील पूंजी सहायता के रूप में भी मंजूर किया जाता है. पैकिंग ऋण की मंजूरी साख पत्र के आधार पर या किसी ऐसे आर्डर के आधार पर की जाती हो जोकि भारत से माल/सेवाओं के निर्यात हेतु एक पक्का और अविकल्पी आर्डर हो या भारत से निर्यात हेतु आर्डर का कोई अन्य साक्ष्य हो.

'पोत लदानोत्तर ऋण' से तात्पर्य बैंक द्वारा प्रदत्त किसी ऐसे ऋण या अग्रिम से है जो भारत के किसी निर्यातक को माल/सेवाओं के निर्यात के बाद लदान की तिथि से ले कर, भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा निर्धारित अवधि के अनुसार, निर्यात संबंधी प्राप्य राशियों की वसूली होने तक प्रदान किया जाता है, और किसी निर्यातक को मंजूर वह ऋण या अग्रिम भी इस में सम्मिलित है जोकि सरकार द्वारा समय समय अनुमत किसी शुल्क वापसी की प्रतिभूति पर या उसको ध्यान में रखते हुए दिया जाता है। आरबीआई के वर्तमान दिशानिर्देशों के अनुसार, लदान की तिथि से निर्यात संबंधी प्राप्य राशियों की वसूली की अवधि 12 महीने है.
होम | शीर्ष
प्रभार अनुसूची : देशी ब्याज दरें : एनआरआई ब्याज दर
दावा अस्वीकरण : वेब मास्टर : साइट मैप : रिज़र्व बैंक : आरटीजीएस : एफएक्यू up Arrow Icon नीतियां : प्रायवेसी : हायपरलिंक : कॉपीराइट : स्क्रीन रीडर एक्सेस