Home   वैयक्तिक बैंकिंग कॉरपोरेट बैंकिंग एमएसएमई बैंकिंग कृषि बैंकिंग एनआरआई बैंकिंग ग्राहक सेवा
होम    हमारे बारे में     निवेशक     आईडीबीआई समूह     सीएसआर     कैरियर     हमसे संपर्क करें     खोज     English
Net Banking Login
bullet देशी ब्याज दरें
bullet एनआरआई ब्याज दर
bullet सेवा प्रभार
bullet कॉरपोरेट सेवा प्रभार
होम > कॉरपोरेट > ट्रेजरी > देशी > सरकारी प्रतिभूतियां और गिल्ट्स

ट्रेजरी - सरकारी प्रतिभूतियां और गिल्ट्स



सरकारी प्रतिभूतियां (जी-सेक) सर्वोच्च प्रतिभूतियां हैं जो भारत सरकार की ओर से रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया द्वारा केंद्र/राज्य सरकार के बाजार उधार प्रोग्राम के एक भाग के रूप में नीलाम की जाती हैं॰ सरकारी प्रतिभूतियों की एक निश्चित या अस्थायी कूपन दर हो सकती है॰ इन प्रतिभूतियों की गणना बैंकों द्वारा एसएलआर बनाए रखने के लिए की जाती है॰

केन्द्र और राज्य सरकारों द्वारा जारी की गई सभी प्रतिभूतियां गिल्ट प्रतिभूति के रूप में मानी जाती हैं, इसलिए सरकारी प्रतिभूतियों के लिए एक अन्य नाम गिल्ट भी है॰ गिल्ट शब्द सरकार द्वारा जारी किए गए कागजात की श्रेष्ठ गुणवत्ता को दर्शाता है॰ इंग्लैंड के बैंक द्वारा जारी किए गए कागजात गिल्ट के किनारों वाले थे अतः शब्द गिल्ट्स की उत्पत्ति वहाँ से हुई॰

होम | शीर्ष
प्रभार अनुसूची : देशी ब्याज दरें : एनआरआई ब्याज दर
दावा अस्वीकरण : वेब मास्टर : साइट मैप : रिज़र्व बैंक : आरटीजीएस : एफएक्यू up Arrow Icon नीतियां : प्रायवेसी : हायपरलिंक : कॉपीराइट : स्क्रीन रीडर एक्सेस